ग्रामीण डॉक्टर कैसे बने जानिए योग्यता सैलरी काम और Gramin डॉक्टर कोर्स

आपने ग्रामीण डॉक्टर (Rural Doctor) के बारे में तो जरूर सुना होगा जो  हमारे  देश  में  सबसे  Important  स्वास्थ्य  कर्मी  माने  जाते  हैं ग्रामीण  डॉक्टर  हमारे  समाज  के  लिए  एक सहायक,  मित्र, सलाहकार, और  मुसीबतों का हल होते हैं 

भारत में ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं की कमी एक बड़ी समस्या है यहाँ डॉक्टरों की भारी कमी है, जिसके कारण लोगों को स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए शहरों का रुख करना पड़ता है अगर आप ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार लाना चाहते हैं और लोगों की मदद करना चाहते हैं, तो आप ग्रामीण डॉक्टर बनने पर विचार कर सकते हैं।

लेकिन क्या आप जानते  हैं कि Gramin Doctor क्या होता है,  ग्रामीण डॉक्टर कैसे बनते हैं और ग्रामीण डॉक्टर बनने लेने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए इस ब्लॉग आर्टिकल में हम आपको ग्रामीण डॉक्टर कैसे बने, Gramin Doctor Course, योग्यता, जॉब और सैलरी के बारे में पूरी जानकारी देने वाले है तो पूरी जानकारी के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़ें।

Table of Contents (toc)

Gramin Doctor क्या होता है ?

Gramin Doctor Course


ग्रामीण डॉक्टर वह डॉक्टर होता है जो ग्रामीण क्षेत्रों में मेडिकल सेवाएं प्रदान करता है  इनका मुख्य काम होता है ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करना जिसका उद्देश्य ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य सेवाओं की पहुंच को मज़बूत करना होता है।

ये डॉक्टर ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा संचार, निदान, उपचार, और स्वास्थ्य परामर्श की सेवाएं प्रदान करते हैं इनका काम शौचालय स्वच्छता, प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल, मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं से संबंधित जांच और उपचार, निदान प्रक्रिया, दवाओं का वितरण, रोग प्रतिरोधक टीकाकरण प्रोग्राम आदि शामिल हो सकते हैं।

ग्रामीण डॉक्टर अकसर गांवों में स्थानीय स्वास्थ्य केंद्रों या प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में काम करते हैं, जहां उन्हें ग्रामीण जनसंख्या की सेवाओं का मैनेजमेंट करना पड़ता है।

ग्रामीण डॉक्टर बनने के लिए योग्यता

आपको बारहवीं कक्षा बायोलॉजी, फिजिक्स और केमिस्ट्री Subjects के साथ 50%  अंको से पास करनी चाहिए।
ग्रामीण डॉक्टर बनने के लिए मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) द्वारा आयोजित एंट्रेंस एग्जाम देना होता है इस एग्जाम में पास होने वाले कैंडिडेट्स को ही ग्रामीण मेडिकल कोर्स में प्रवेश मिलता है। 
B.Sc in Community Health मेडिकल कोर्स करना यह डिग्री प्रोग्राम हैं जो आपको डॉक्टर बनने के लिए आवश्यक ज्ञान और कौशल प्रदान करता है कोर्स पूरा करने के बाद, ग्रामीण इलाकों में इंटर्नशिप करनी होती है।

ग्रामीण डॉक्टर बनने के लिए प्रोसेस

  • सबसे पहले बायोलॉजी, फिजिक्स और केमिस्ट्री Subjects के साथ 12वी पास करे
  • इसके बाद मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (MCI) द्वारा आयोजित एंट्रेंस एग्जाम पास करे
  • इसके बाद आपको 3.5 वर्षीय B.sc in Community Health कोर्स में एडमिशन दिया जाएगा
  • B.sc in Community Health कोर्स को पूरा करने के बाद आप ग्रामीण डॉक्टर बन सकते हैं


Gramin डॉक्टर बनने के लिए कौन कौनसे कोर्स कर सकते हैं

ग्रामीण डॉक्टर के लिए कौन सा कोर्स करना चाहिए, यह आपके इंटरेस्ट, योग्यता और लक्ष्य पर depend करता है आइए आपको कुछ संभावित कोर्स के बारे में बताते हैं:

Bachelor of Science in Rural Health Care (B.Sc. RHC)

B.Sc. RHC 3 साल 6 महीने का कोर्स है, जिसमें 6 महीने की इंटर्नशिप शामिल है इस कोर्स को पूरा करने के बाद, आपको प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए प्रमाणपत्र प्राप्त होगा, परंतु आपको अपने नाम के साथ “डॉक्टर” का प्रयोग नहीं करना होगा। 

B.Sc. RHC कोर्स में प्रवेश पाने के लिए, आपको साइंस स्ट्रीम से, कम से कम 50% अंकों के साथ 10+2 पास होना चाहिए इसमें प्रवेश मेरिट के आधार पर होता है, मतलब 10+2 में प्राप्त अंकों के आधार पर।

B.Sc. RHC कोर्स की फीस हर इंस्टिट्यूट में अलग-अलग होती है हालाँकि, B.Sc. RHC कोर्स की औसत फीस 20,000 से 80,000 रुपये के बीच होती है।

B.Sc. RHC कोर्स के सिलेबस में समुदाय स्वास्थ्य, प्रथम सहायता, पोषण, परिवार नियोजन, रोग विज्ञान, चिकित्सा विज्ञान, समुदाय में संक्रमित रोग, समुदाय में महिला-पुरुष-संतान-स्वास्थ्य, समस्या-समाधान, आदि जैसे विषय शामिल होते हैं।

B.Sc. RHC कोर्स के बाद करियर ऑप्शन 

Rural Health Care Worker

आप ग्रामीण क्षेत्रों में प्राथमिक स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए काम कर सकते हैं आपको समुदाय की स्वास्थ्य जरूरतों का पता लगाना, परामर्श देना, चेक-अप करना, और आवश्यक दवाइयों की आपूर्ति करना जैसे काम करने  होंगे।

Rural Health Care Educator

यह एक ऐसा पेशा है जिसमें आप ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य शिक्षा प्रसार के लिए काम करते हैं आपको समुदाय को स्वास्थ्य परंपराओं, पोषण, हेल्थी हैबिट्स, संक्रमित रोगों से बचने के उपाय, परिवार नियोजन, महिला-पुरुष-संतान-स्वास्थ्य, समुदाय में संक्रमित-समस्या-समाधान जैसे मुद्दों पर जागरूक करना होता है।

Rural Health Care Educator बनने के लिए, आपको B.Sc. RHC कोर्स के साथ-साथ Certificate Course in Health Education and Community Pharmacy (CHECP) एक 6 महीने का पैरामेडिकल कोर्स करना होता है।

Diploma in Rural Health Care (DRHC)

एक 2 साल का पैरामेडिकल कोर्स है जिसमें 6 महीने की ट्रेनिंग और इंटर्नशिप होती है इस कोर्स को पूरा करने के बाद, आपको समुदाय में स्वास्थ्य सुधारने में सहायक होने के लिए प्रमाणपत्र प्राप्त होगा, लेकिन आपको “संस्था” (Institution) में ही काम करना होगा, “स्वतंत्र” (Independent) नहीं।

DRHC कोर्स में एड्मिशन पाने के लिए, आपको  किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से, कम से कम 50% अंकों के साथ 10+2 पास होना चाहिए इसमे एड्मिशन मेरिट के आधार पर होता है मतलब 10+2 में प्राप्त अंकों के आधार पर

DRHC कोर्स की फीस हर इंस्टिट्यूट में अलग-अलग होती है हालाँकि, DRHC कोर्स की औसत फीस 10,000 से 50,000 रुपये के बीच होती है

DRHC कोर्स का सिलेबस समुदाय स्वास्थ्य, प्रथम सहायता, पोषण, परिवार नियोजन, समुदाय में संक्रमित रोग,  महिला-पुरुष-संतान-स्वास्थ्य, समस्या-समाधान, जैसे विषयों पर आधारित होता है।

Diploma in Community Medical Service and Essential Drugs (CMS ED)

CMS ED एक 18 महीने का पैरामेडिकल कोर्स है जिसमें 6 महीने की ट्रेनिंग और इंटर्नशिप होती है CMS ED कोर्स को पूरा करने के बाद आपको सामुदायिक स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए प्रमाणपत्र प्राप्त होगा लेकिन आपको “संस्था” (Institution) में ही काम करना होगा, “स्वतंत्र” (Independent) नहीं

CMS ED कोर्स में प्रवेश पाने के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कम से कम 50% अंकों के साथ 10+2 पास होना चाहिए

CMS ED कोर्स की फीस हर इंस्टिट्यूट में  अलग-अलग होती है हालाँकि, CMS ED कोर्स की औसत फीस 10,000 से 30,000 रुपये के बीच होती है

CMS ED कोर्स का सिलेबस समुदाय स्वास्थ्य, प्रथम सहायता, पोषण, परिवार नियोजन, समुदाय में संक्रमित रोग,  महिला-पुरुष-संतान-स्वास्थ्य, समस्या-समाधान, जैसे विषयों से सम्बंधित होता है।

CMS ED कोर्स के बाद, आपको कुछ करियर ऑप्शन मिल सकते हैं जैसे: Community Medical Service Provider आप ग्रामीण क्षेत्रों में सामुदायिक स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए काम कर सकते हैं इसमें आपको परामर्श देना, चेक-अप करना, और आवश्यक दवाइयों की आपूर्ति जैसे काम करने  होंगे

Community Medical Service Educator आप ग्रामीण क्षेत्रों में सामुदायिक स्वास्थ्य शिक्षा प्रसार के लिए काम कर सकते हैं।

Certificate Course in Community Health (CCH)

CCH एक 6 महीने का पैरामेडिकल कोर्स है जिसमें 3 महीने की ट्रेनिंग होती है CCH कोर्स को पूरा करने के बाद, आपको समुदाय में स्वास्थ्य सुधारने में सहायक होने के लिए प्रमाणपत्र प्राप्त होगा, परंतु आपको “संस्था” (Institution) में ही काम करना होगा

CCH कोर्स में प्रवेश पाने के लिए आपको साइंस स्ट्रीम से, कम से कम 50% अंकों के साथ 10+2 पास होना चाहिए

CCH कोर्स की फीस अलग - अलग  इंस्टिट्यूट में अलग-अलग होती है हालाँकि, CCH कोर्स की औसत फीस 10,000 से 20,000 रुपये के बीच होती है।

CCH कोर्स का सिलेबस स्वास्थ्य, प्रथम सहायता, परिवार नियोजन, समुदाय में संक्रमित रोगों से सम्बधित होता है

CCH कोर्स के बाद आपको कुछ career option मिल सकते हैं जैसे: Community Health Worker आप ग्रामीण क्षेत्रों में समुदाय में स्वास्थ्य सुधारने में सहायक होने के लिए काम कर सकते हैं आपको परामर्श देना, चेक-अप करना, और आवश्यक दवाइयों की आपूर्ति करनी होगी।

Bachelor of Science in Community Health

यह 3 साल 6 महीने का मेडिकल कोर्स है इस course को पूरा करने के बाद आप आप ग्रामीण अस्पतालों में काम कर सकते है। 

इस कोर्स को 2013 में शुरू किया गया था इस कोर्स में आपको अपने ज़िले के हॉस्पिटल में पढाई करनी होती है।

बैचलर ऑफ साइंस इन कम्युनिटी कोर्स में  सामुदायिक स्वास्थ्य, स्वास्थ्य नीतियों, खाद्य विज्ञान, और पोषण जैसे विषय शामिल होते हैं

इस कोर्स को करने के बाद छात्र सामाजिक कल्याण विभाग, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, एनजीओ, अस्पतालों, और खाद्य उद्योगों में जॉब पा सकते हैं यह कोर्स समाज के कल्याण और स्वास्थ्य में सुधार के लिए जरूरी ज्ञान और skill प्रदान करता है।

BSc in Community Medicine

इस कोर्स को इसलिए लॉन्च किया गया ताकि ग्रामीण इलाको में लोगों के स्वस्थ को सुधारा जा सके यह 3 साल का  बीएससी (कम्युनिटी मेडिसिन) डिग्री प्राप्त करने का एक नया तरीका है जो भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया है

कई doctors के दुवारा इस कोर्स का काफी विरोध किया गया लेकिन डॉक्टरों के विरोध के बावजूद भी सरकार ने इस कोर्स को ग्रामीण इलाको में लोगों के स्वस्थ को बेहतर बनाने के लिए लॉन्च किया। 

इस कोर्स को करने के लिए आपको 12वी कक्षा फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी और अंग्रेजी सब्जेक्ट्स में कम से कम 50 % अंको के साथ पास होना चाहिए इसके बाद आप इस कोर्स को कर सकते है।


ग्रामीण डॉक्टर की सैलरी कितनी होती हैं ?

ग्रामीण डॉक्टर की सैलरी उनके अनुभव, योग्यता और काम करने के स्थान के आधार पर अलग - अलग होती है सरकारी जॉब में, सैलरी ₹50,000 से ₹1,00,000 प्रति माह तक हो सकती है।

ग्रामीण डॉक्टर के रूप में आप क्या काम करेंगे?

  1. आप ग्रामीण लोगों को सामान्य बीमारियों और चोटों का इलाज प्रदान करेंगे।
  2. आप बच्चों को टीका लगाएंगे और लोगों की नियमित स्वास्थ्य जांच करेंगे।
  3. आप गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं की देखभाल करेंगे।
  4. आप लोगों को स्वास्थ्य और स्वच्छता के बारे में शिक्षित करेंगे।

निष्कर्ष। 

दोस्तों इस प्रकार आप Gramin Doctor बन सकते हैं इस आर्टिकल में हमने आपको ग्रामीण डॉक्टर कैसे बने और Gramin Doctor बनने के लिए Course के बारे में जानकारी दी ग्रामीण डॉक्टर बनना एक चुनौतीपूर्ण लेकिन Rewarding करियर ऑप्शन है अगर आप सेवा भावना से प्रेरित हैं और लोगों की मदद करना चाहते हैं तो ग्रामीण डॉक्टर बनना आपके लिए एक शानदार ऑप्शन हो सकता है।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.