होमगार्ड की नौकरी सरकारी है या प्राइवेट जानिए सैलरी योग्यता और काम

दोस्तो YDL Jobs में आपका स्वागत है आज हम बात करेंगे Home Guard की जॉब के बारे में सभी जानकारी चलिए शुरु करते हैं।

होमगार्ड की नौकरी सरकारी है या प्राइवेट
Home Guard Kaise Bane



होमगार्ड की नौकरी सरकारी है या प्राइवेट

होमगार्ड की नौकरी एक सरकारी नौकरी है होमगार्ड भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अधीन आता है होमगार्ड का मुख्य कार्य कानून व्यवस्था बनाए रखना, नागरिक सुरक्षा में मदद करना, और आपदा राहत कार्यों में सहायता करना है।

होमगार्ड की सैलरी कितनी होती है?

होमगार्ड की सैलरी राज्य सरकारों द्वारा निर्धारित की जाती है आमतौर पर, होमगार्ड की शुरुआती सैलरी ₹15000 से ₹25,000 प्रति महीन होती है अनुभव और योग्यता के आधार पर सैलरी बढ़ सकती है।

होमगार्ड बनने के लिए योग्यता क्या है?

होमगार्ड की भर्ती के लिए उम्मीदवारों को निम्नलिखित योग्यताएं होनी चाहिए:

  • उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए।
  • उम्मीदवार की आयु 18 से 35 साल के बीच होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार की न्यूनतम शैक्षिक योग्यता 10वीं पास होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ होना चाहिए।
  • पुरूष उम्मीदवार की हाइट 157 सेंटीमीटर होनी चाहिए और महिला उम्मीदवार की हाइट 148 सेंटीमीटर होनी चाहिए।

होमगार्ड का काम क्या होता है?

  1. होमगार्ड का मुख्य काम कानून व्यवस्था बनाए रखना है जैसे
  2. गश्त करना
  3. संदिग्ध व्यक्तियों की पहचान करना
  4. अपराधों को रोकना और उनका पता लगाना
  5. नागरिक सुरक्षा में मदद करना
  6. आपदा राहत कार्यों में सहायता करना
  7. सरकारी अस्पतालों में गार्ड ड्यूटी करते है

होमगार्ड की नौकरी के लिए अप्लाई कैसे करें?

होमगार्ड की भर्ती के लिए राज्य सरकारों द्वारा समय-समय पर notification जारी की जाती है उम्मीदवार इन नोटिफिकेशन को राज्य सरकारों की वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं नोटिफिकेशन में अप्लाई करने का प्रॉसेस और आवश्यक दस्तावेजों की लिस्ट दी होती है।

Home Guard के लिए जरुरी डॉक्युमेंट्स

  • आधार कार्ड
  • पैन कार्ड 
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • शैक्षिक प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • शारीरिक दक्षता प्रमाण पत्र

होमगार्ड की नौकरी कितने साल की होती है?

होमगार्ड की नौकरी की अवधि अब 3 साल की हो गई है पहले यह 5 साल की थी लेकिन सरकार ने कुछ समय पहले इस अवधि को कम कर दिया है।

होमगार्ड की नौकरी की अवधि समाप्त होने के बाद, होमगार्ड को फिर से भर्ती के लिए अप्लाई करना होगा। अगर होमगार्ड को फिर से भर्ती नहीं किया जाता है, तो उन्हें नौकरी से निकाल दिया जाता है।

होमगार्ड की नौकरी एक सरकारी नौकरी है इस नौकरी में सैलरी अच्छी है और अन्य भत्ते भी मिलते हैं। इसके अलावा, इस नौकरी में देश सेवा करने का अवसर भी मिलता है।

सरल भाषा में कहें तो, होमगार्ड की नौकरी अब 3 साल की है।

होमगार्ड की ट्रेनिंग कैसे होती है?

होमगार्ड की ट्रेनिंग आमतौर पर 6 महीने की होती है। ट्रेनिंग का उद्देश्य होमगार्ड को कानून व्यवस्था बनाए रखने, आपदा राहत और बचाव कार्यों में मदद करने के लिए आवश्यक कौशल और ज्ञान प्रदान करना है।

कानून व्यवस्था

होमगार्ड को कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए आवश्यक कानूनों, नियमों और प्रक्रियाओं के बारे में ट्रैनिंग दी जाती है।

आर्म्स ट्रेनिंग

होमगार्ड को हथियारों के उपयोग और रखरखाव के बारे में ट्रैनिंग दी जाती है।

फायर फाइटिंग

होमगार्ड को आग बुझाने और बचाव कार्यों में मदद करने के लिए training दी जाती है।

प्राथमिक सहायता

होमगार्ड को प्राथमिक चिकित्सा प्रदान करने के लिए ट्रैनिंग दी जाता है।

ट्रेनिंग के दौरान होमगार्ड को प्रैक्टिकल एक्सपीरियंस और परीक्षाओं के माध्यम से प्रशिक्षित किया जाता है।

होमगार्ड की ट्रेनिंग सफलतापूर्वक पूरा करने वाले होमगार्ड को होमगार्ड के रूप में नियुक्त किया जाता है।

होमगार्ड की ट्रेनिंग एक कठिन और चुनौतीपूर्ण प्रक्रिया है लेकिन यह एक अत्यंत महत्वपूर्ण प्रक्रिया भी है। होमगार्ड की ट्रेनिंग के माध्यम से ही होमगार्ड कानून व्यवस्था बनाए रखने, आपदा राहत और बचाव कार्यों में हेल्प करने के लिए आवश्यक कौशल और ज्ञान प्राप्त कर पाते हैं।

होमगार्ड की दौड़ कैसे होती है

होमगार्ड की भर्ती में दौड़ एक महत्वपूर्ण हिस्सा है दौड़ के माध्यम से होमगार्ड की शारीरिक योग्यता का टेस्ट किया जाता है।

होमगार्ड की दौड़ 1600 मीटर की होती है पुरुषों को 16 मिनट में और महिलाओं को 20 मिनट में दौड़ पूरी करनी होती है।

निष्कर्ष

होमगार्ड की नौकरी एक अच्छी सरकारी नौकरी है इस नौकरी में सैलरी अच्छी है और अन्य भत्ते भी मिलते हैं। इसके अलावा इस नौकरी में देश सेवा करने का अवसर भी मिलता है।

Post a Comment

0 Comments