भगत कैसे बनें जानिए स्टेप बाय स्टेप

हर किसी के मन में कभी न कभी भगवान के करीब जाने की ख्वाहिश होती है वो पवित्रता, शांति और खुशी पाना चाहते हैं जो भक्ति से मिलती है लेकिन Bhagat Kaise Bane ये सवाल भी कई लोगो के दिमाग में घूमता है

इस आर्टिकल में मैं आज हम इसी सवाल का जवाब देकर आपके भक्ति के सफर को आसान बनाने की कोशिश करुगा याद रखिए भगवान तक पहुंचने का रास्ता कोई जटिल गढ़ नहीं बल्कि छोटे-छोटे कदमों की सीढ़ी है।

Bhagat Kaise Bane
भगत क्या होते हैं?


भगत कैसे बने ?

भगवान की भक्ति कैसे करें कि वो हमारी सुनें और मन शांत हो जाए तो आज हम बात करेंगे भगवान के करीब आने के कुछ सरल तरीकों के बारे में। 

भगत क्या होते हैं?

भगत उन लोगों को कहते हैं जो भगवान या किसी देवी-देवता की भक्ति में लीन रहते हैं। वे अक्सर भगवान की उपासना भजन-कीर्तन और पूजा-अर्चना में समय गुजारते हैं।

भगत को भगवान से गहरा प्रेम और श्रद्धा होती है। वे भगवान के चरणों में अपना सर्वस्व समर्पित कर देते हैं। कई भगत तो अपना पूरा जीवन भगवान की सेवा में लगा देते हैं।

भगत अक्सर भगवान के गुण-गान, भजन-कीर्तन और भगवान से जुड़ी कहानियां सुना कर अन्य लोगों को भी भगवान की भक्ति में लाने का प्रयास करते हैं। इस प्रकार वे भगवान के बारे में जागरूकता फैलाते हैं।


1. पहला स्टेप: अपने मन की साफ़ाई करे 

भक्त बनने का सबसे पहला स्टेप है अपने मन को साफ़ करना मतलब, नकारात्मक विचारों को दूर करना, दूसरों की बुराई ना सोचना और ईमानदारी से भगवान के प्रति समर्पण करना। 

2. दूसरा स्टेप: नियमित पूजा-पाठ करे

भगवान से जुड़ने के लिए नियमित पूजा-पाठ करना ज़रूरी है चाहे सुबह हो या शाम, बस कुछ पल भगवान को याद करने के लिए निकालें मंदिर जाएं, घर में पूजा करें, भजन गाएं, जो भी आपको अच्छा लगे वो करें लेकिन ये सब दिखावा के लिए नहीं, बल्कि दिल से करें।

3. तीसरा स्टेप: अपने गुरु का मार्गदर्शन करे 

अगर आपको भक्ति का सही रास्ता समझने में दिक्कत हो रही है तो किसी गुरु या संत का मार्गदर्शन लें वो आपको भक्ति के तरीके बताएंगे और आपकी शंकाओं का समाधान करेंगे।

4. चौथा स्टेप: अच्छे काम और सेवा

भगवान की भक्ति सिर्फ पूजा-पाठ तक ही सीमित नहीं है हर अच्छे काम में भगवान को देखना और उनकी कृपा से ही काम करना, यही असली भक्ति है गरीबों की मदद करें, सच बोलें, दूसरों की इज्ज़त करें, ये सब भगवान को बहुत पसंद हैं।

5. पांचवां स्टेप: धैर्य और लगन

भक्त बनने का रास्ता सीधा नहीं होता इसमें धैर्य और लगन ज़रूरी है. कभी मन भटकेगा, कभी निराशा आएगी, लेकिन हार मत मानें. बस भगवान पर विश्वास रखें और धीरे-धीरे आगे बढ़ते जाएं।

6. छठा स्टेप: धर्मग्रंथों का अध्ययन करें:

धर्मग्रंथों में ईश्वर के बारे में बताया गया है और भक्ति के तरीके भी बताए गए हैं अपने धर्म के प्रमुख ग्रंथों को पढ़ने की आदत डालें. इससे आपकी समझ बढ़ेगी और भक्ति भाव और मजबूत होगा।


भगत बनने के लिए याद रखें यह बातें:

  • भक्त बनने के लिए किसी खास योग्यता की जरूरत नहीं है, सिर्फ सच्चा प्रेम और समर्पण काफी है।
  • हर व्यक्ति की भक्ति अलग-अलग हो सकती है, किसी को मंदिर जाना पसंद है, तो किसी को प्रकृति में ईश्वर को ढूंढना अच्छा लगता है।
  • भक्ति का रास्ता हमेशा खुशियों से भरा नहीं होता पर हर चुनौती आपको ईश्वर के और करीब ले जाती है।
  • भजन-कीर्तन सुनना और गाना भी भक्ति भाव बढ़ाने में मदद करता है।
  • पवित्र स्थानों की यात्रा करना भी एक अच्छा अनुभव होता है।
  • समाज सेवा करना भी भगवान की भक्ति का ही एक रूप है।

निष्कर्ष। 

इस आर्टिकल में मैंने आपको भगत कैसे बने भक्ति का फल तुरंत नहीं मिलता है इसके लिए धैर्य और लगन की जरूरत होती है हार न मानें और ईश्वर पर भरोसा रखें. एक दिन आपकी सच्ची भक्ति जरूर रंग लाएगीभगवान हर किसी के दिल में बसते हैं बस उन्हें खोजने की जरूरत है ऊपर बताए गए तरीकों को अपनाकर आप अपने भक्ति भाव को बढ़ा सकते हैं और सच्चे भक्त बन सकते हैं। 

Post a Comment

0 Comments