[2024] में ITI के बाद अपरेंटिस करने के फायदे और अपरेंटिस कैसे करे

ITI एक ऐसा कोर्स है जो आपको किसी भी टेक्निकल ट्रेड में जॉब पाने के लिए तैयार करता है ITI के बाद आप सीधे किसी कंपनी में जॉब लग सकते हैं लेकिन अगर आप अपनी जॉब पाने के मौके को और बढ़ाना चाहते हैं तो आपको अप्रेंटिसशिप करनी चाहिए इस आर्टिकल में मैं आपको ITI के बाद Apprentice Karne Ke Fayde के बारे में पूरी जानकरी देने वाला हूँ।

ITI के बाद अप्रेंटिस कैसे करें?
Apprentice Kaise Kare

ITI के बाद अपरेंटिस करने के फायदे

अप्रेंटिसशिप क्या है?

अप्रेंटिसशिप एक तरह की ट्रेनिंग होती है जिसमें आपको किसी कंपनी में काम करते हुए अपनी ट्रेड में प्रैक्टिकल ट्रेनिंग मिलती है अप्रेंटिसशिप का समय आमतौर पर 1 साल का होता है यह आपके ट्रेड और कंपनी पर निर्भर करता है अप्रेंटिसशिप के दौरान आपको कंपनी द्वारा मानदेय भी दिया जाता है।

अपरेंटिस करने के होते है यह फायदे 

प्रैक्टिकल ट्रेनिंग मिलती है 

अप्रेंटिसशिप के दौरान आपको अपनी ट्रेड में प्रैक्टिकल ट्रेनिंग मिलती है इससे आपको अपने ट्रेड में बेहतर बनने में मदद मिलती है और आपको यह जानने का मौका मिलता है कि कंपनी में काम कैसे होता है। 

जॉब पाने में आसानी होती है 

अप्रेंटिसशिप सर्टिफिकेट होने पर आपको जॉब पाने में आसानी होती है कई कंपनियां अप्रेंटिसशिप सर्टिफिकेट वाले उम्मीदवारों को प्राथमिकता देती हैं।

अप्रेंटिसशिप के दौरान सैलरी मिलती है 

अप्रेंटिसशिप के दौरान आपको कंपनी द्वारा मानदेय यानि सैलरी भी दी जाती है इससे आप अपनी आर्थिक जरूरतों को पूरा कर सकते हैं।

नए लोगों से मिलने का मौका 

अप्रेंटिसशिप के दौरान आप नए लोगों से मिलते हैं इससे आपकी सोशल सर्कल बनता है और आप नए दोस्त बना सकते हैं।

कंपनी में काम करने का ज्ञान

अपरेंटिस करने से विद्यार्थी को किसी भी कंपनी या संस्था के कार्य संस्कृति और नियमों को समझने का मौका मिलता है 

अपने सहयोगियों और सीनियर्स के साथ अच्छे संबंध बनाते हैं और उनसे सहयोग और समन्वय करते हैं इससे उनका टीमवर्क और कम्युनिकेशन्स कौशल भी डेवलप होता है।

ITI के बाद अप्रेंटिस कैसे करें?

ITI के बाद अप्रेंटिसशिप करने के लिए आपको सबसे पहले किसी कंपनी में अप्रेंटिसशिप के लिए अप्लाई करना होगा आप अपने क्षेत्र में आने वाली अप्रेंटिसशिप की वैकेंसी के बारे में जानकारी के लिए आप www.apprenticeshipindia.gov.in पर देख सकते हैं।

अप्रेंटिसशिप के लिए अप्लाई करने के लिए आपको अपनी ITI की मार्कशीट, आधार कार्ड, पैन कार्ड, और पासपोर्ट साइज फोटो की जरूरत होती है अप्लाई करने के बाद कंपनी आपका इंटरव्यू लेती है अगर आप इंटरव्यू में आपकी अच्छी परफॉर्मेंस होती है तो कंपनी आपको अप्रेंटिसशिप के लिए सेलेक्ट कर लेती है।


ITI के बाद अप्रेंटिसशिप करने के लिए कुछ टिप्स

अपने क्षेत्र में अच्छी कंपनियों में अप्लाई करें।

अपनी ITI की डिग्री में अच्छे अंक प्राप्त करें।

अपने इंटरव्यू में अच्छा प्रदर्शन करें।


आईटीआई अपरेंटिस में कितनी सैलरी मिलती है ?

आईटीआई अपरेंटिस में सैलरी ट्रेड और कंपनी के हिसाब से अलग-अलग होती है आमतौर पर आईटीआई अपरेंटिस को 10,000 से 15,000 रुपये प्रति माह तक का मानदेय मिलता है कुछ कंपनियां आईटीआई अपरेंटिस को 20,000 रुपये प्रति माह तक का मानदेय भी देती हैं।


आईटीआई अपरेंटिस की सैलरी कई कारकों पर निर्भर करती है 

ट्रेड - कुछ ट्रेड, जैसे इलेक्ट्रॉनिक्स, मैकेनिकल, और इंस्ट्रूमेंटेशन, में अन्य ट्रेड की तुलना में अधिक सैलरी मिलती है।

कंपनी - सरकारी कंपनियों में आईटीआई अपरेंटिस को आमतौर पर निजी कंपनियों की तुलना में अधिक सैलरी मिलती है।

अनुभव - अनुभवी आईटीआई अपरेंटिस को कम अनुभव वाले आईटीआई अपरेंटिस की तुलना में अधिक सैलरी मिलती है।

आईटीआई अपरेंटिस की सैलरी समय के साथ बढ़ती रहती है। 


निष्कर्ष। 

इस प्रकार हमने देखा कि ITI के बाद अपरेंटिस करने के कई फायदे हैं यह विद्यार्थियों को अपने कौशल को बेहतर बनाने, अपने अनुभव को बढ़ाने, अपनी आर्थिक स्थिति को सुधारने और अपने भविष्य को सुनहरा बनाने का एक शानदार अवसर देता है।

Post a Comment

0 Comments