12th के बाद बैंक मैनेजर कैसे बने जानिए सैलरी योग्यता काम और अप्लाई प्रोसेस

अगर आप बैंकिंग क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं और आप 12वीं के बाद बैंक मैनेजर बनने की ख्वाहिश रखते हैं तो यह ब्लॉग पोस्ट आपके लिए है।

यहाँ हम आपको 12वीं के बाद बैंक मैनेजर बनने के लिए आवश्यक योग्यता, सैलरी, काम और अप्लाई प्रोसेस के बारे में जानकारी देंगे।

private बैंक मैनेजर सैलरी
12th के बाद बैंक मैनेजर


12th के बाद बैंक मैनेजर कैसे बने

बैंक मैनेजर एक जिम्मेदार पोस्ट होती है जिसमें बैंक के सभी कामो का मैनेजमेंट करना होता है बैंक मैनेजर बनने के लिए आपको कुछ योग्यताएं और कौशल होना आवश्यक है।

12वी के बाद बैंक मैनेजर बनने के लिए योग्यता

  • 12वीं कक्षा कॉमर्स स्ट्रीम से किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से पास होना चाहिए
  • ग्रेजुएट की डिग्री (बीए, बीकॉम, बीएससी) किसी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से करे।
  • कुछ बैंकों में पोस्ट ग्रेजुएट की डिग्री (एमए, एमकॉम, एमएससी) भी आवश्यक होती है।
  • बैंकिंग और फाइनेंस में कुछ प्रासंगिक प्रमाणपत्र।
  • कंप्यूटर का ज्ञान होना चाहिए।
  • अंग्रेजी और हिंदी भाषा का अच्छा ज्ञान।
  • अच्छी कम्युनिकेशन स्किल और लीडरशिप एबिलिटी।

बैंक मैनेजर की सैलरी कितनी होती है ?

बैंक मैनेजर की सैलरी बैंक, अनुभव और योग्यता के आधार पर अलग - अलग होती है सरकारी बैंकों में बैंक मैनेजर की सैलरी 50,000 रुपये से लेकर 1 लाख रुपये महीने तक हो सकती है प्राइवेट बैंकों में बैंक मैनेजर की सैलरी 1 लाख रुपये से लेकर 2 लाख रुपये प्रति माह तक हो सकती है।

बैंक मैनेजर का क्या काम होता है ?

बैंक मैनेजर बैंक के सभी कामो का मैनेजमेंट करता है बैंक मैनेजर के कुछ मुख्य काम निचे दिए गए हैं
  1. बैंक के ग्राहकों को बैंकिंग सेवाएं प्रदान करना।
  2. बैंक के कर्मचारियों का मैनेजमेंट करना।
  3. बैंक के लक्ष्यों को प्राप्त करना।
  4. बैंक के फाइनेंसियल मामलों का मैनेजमेंट करना।
  5. बैंक के ग्राहकों के साथ संबंध बनाए रखना।

Bank मैनेजर बनने के लिए अप्लाई कैसे करे ?

बैंक मैनेजर बनने के लिए आपको बैंक द्वारा आयोजित परीक्षा में पास होना होगा 

बैंक मैनेजर बनने के लिए आप सरकारी या प्राइवेट बैंकों में भर्ती परीक्षाओं में भाग ले सकते हैं।

कुछ प्रमुख भर्ती परीक्षाएं हैं:


बैंक द्वारा आयोजित परीक्षा में प्रीलिम्स, मेन्स और इंटरव्यू शामिल होते हैं।

प्रीलिम्स परीक्षा

प्रीलिम्स परीक्षा में सामान्य ज्ञान, बैंकिंग और फाइनेंस, अंग्रेजी भाषा और तर्कशक्ति के प्रश्न पूछे जाते हैं।

मेन्स परीक्षा

मेन्स परीक्षा में बैंकिंग और वित्त, अंग्रेजी भाषा, तर्कशक्ति और डेटा इंटरप्रिटेशन के प्रश्न पूछे जाते हैं।

इंटरव्यू

इंटरव्यू में आपके व्यक्तित्व, लीडरशिप क्षमता और बैंकिंग क्षेत्र के ज्ञान का टेस्ट किया जाता है।

इन परीक्षाओं में पास होने के बाद आपको इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा पास होने पर आपको बैंक मैनेजर के पोस्ट पर नियुक्त किया जाएगा।

प्राइवेट बैंक मैनेजर कैसे बने 

यहां कुछ बैंक हैं जो बैंक मैनेजर के पद के लिए भर्ती करते हैं:
  • भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई)
  • पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी)
  • बैंक ऑफ बड़ौदा
  • बैंक ऑफ इंडिया
  • एचडीएफसी बैंक
  • आईसीआईसीआई बैंक
  • IDBI बैंक
आप इन बैंकों की वेबसाइटों पर जाकर भर्ती परीक्षा के लिए अप्लाई कर सकते हैं।


बैंक मैनेजर बनने के लिए कुछ टिप्स

  1. बैंकिंग और फाइनेंस के बारे में अच्छी जानकारी प्राप्त करें।
  2. बैंक द्वारा आयोजित परीक्षाओं के लिए अच्छी तैयारी करें।
  3. अपने व्यक्तित्व और लीडरशिप क्षमता का विकास करें।
  4. अंग्रेजी और हिंदी भाषा में अच्छा ज्ञान प्राप्त करें।

निष्कर्ष।


बैंक मैनेजर बनना एक चुनौतीपूर्ण लेकिन rewarding करियर ऑप्शन है यह उन लोगों के लिए एक अच्छा ऑप्शन है जो लीडरशिप कौशल, बातचीत कौशल और टीम वर्क क्षमता रखते हैं आप बैंकिंग क्षेत्र में करियर बनाना चाहते हैं तो 12वीं के बाद बैंक मैनेजर बनने के लिए तैयारी शुरू करें।

यह ब्लॉग पोस्ट आपको कैसा लगा? हमें कमेंट में जरूर बताएं!

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.