12वी के बाद प्रोफेसर कैसे बने जानिए सैलरी योग्यता, कोर्स और काम

अगर आप 12वीं के बाद प्रोफेसर बनना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए है इस आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगा कि 12वीं के बाद Professor कैसे बनें, प्रोफेसर बनने के लिए क्या योग्यताएं होनी चाहिए, प्रोफेसर बनने के लिए कौन से कोर्स करें और प्रोफेसर का काम क्या होता है।

प्रोफेसर बनने के लिए कौन सी पढ़ाई करनी पड़ती है?
12वी के बाद प्रोफेसर 


प्रोफेसर कौन होता है?


प्रोफेसर एक शिक्षक होता है जो कॉलेज या यूनिवर्सिटी में छात्रों को पढ़ाता है प्रोफेसर अपने सबजेक्ट के विशेषज्ञ होते हैं और वे छात्रों को न केवल सब्जेक्ट की जानकारी देते हैं, बल्कि उन्हें सोचना, समझना और एनालिसिस करना भी सिखाते हैं।

प्रोफेसर बनने के लिए योग्यताएं

  • 12वीं कक्षा में कम से कम 55% अंक
  • ग्रेजुएट (बीए, बीएससी, बीकॉम) में कम से कम 55% अंक
  • पोस्ट ग्रेजुएट (एमए, एमएससी, एमकॉम) में कम से कम 55% अंक
  • नेट (National Eligibility Test) परीक्षा पास
  • पीएचडी (PhD) की डिग्री (ऑप्शनल)

प्रोफेसर बनने के लिए कौनसा कोर्स करे?

  1. 12वीं के बाद आप अपने इंटरेस्ट के अनुसार ग्रेजुएट (बीए, बीएससी, बीकॉम) की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।
  2. ग्रेजुएट के बाद आप पोस्ट ग्रेजुएट (एमए, एमएससी, एमकॉम) की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।
  3. पोस्ट ग्रेजुएट के बाद आप नेट (National Eligibility Test) परीक्षा या SLET (State Level Eligibility Test) परीक्षा pass करनी होगी यह परीक्षा आपको प्रोफेसर बनने के लिए योग्य बनाती है।
  4. नेट परीक्षा पास करने के बाद आप पीएचडी (PhD) की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।
  5. अगर आप प्रोफेसर बनना चाहते हैं तो आपको पीएचडी (Doctor of Philosophy) की डिग्री प्राप्त करनी चाहिए यह डिग्री आपको अपने subject में गहन ज्ञान और रिसर्च करने की क्षमता प्रदान करती है।
  6. अनुभव प्राप्त करें - अनुभव प्राप्त करने के लिए आप लेक्चरर या गेस्ट फैकल्टी के रूप में काम कर सकते हैं।

प्रोफेसर का क्या काम होता है?

  • छात्रों को पढ़ाना
  • छात्रों को रिसर्च में मदद करना
  • परीक्षा आयोजित करना और मूल्यांकन करना
  • सिलेबस तैयार करना
  • रिसर्च पत्र लिखना
  • सम्मेलनों में भाग लेना
  • रिसर्च करना

प्रोफेसर की सैलरी कितनी होती है?


प्रोफेसर की सैलरी उनके अनुभव, योग्यता और शिक्षण संस्थान के आधार पर अलग अलग होती है।
भारत में एक प्रोफेसर की औसत सैलरी ₹50,000 से ₹1,00,000 प्रति महीना है।

प्रोफेसर बनने के लिए टिप्स

  1. अपने interest के subject का चुनाव करें।
  2. कड़ी मेहनत करें और अच्छे अंक प्राप्त करें।
  3. नेट परीक्षा की तैयारी के लिए अच्छे कोचिंग संस्थान में दाखिला लें।
  4. पीएचडी के लिए एक अच्छे विश्वविद्यालय का सिलेक्शन करें।
  5. अपने सबजेक्ट के क्षेत्र में नए रिसर्च पर अपडेट रहें।

प्रोफेसर के लिए भारत में कुछ टॉप यूनिवर्सिटीज कोनसी है?

केंद्रीय विश्वविद्यालय

  • दिल्ली विश्वविद्यालय
  • जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय
  • भारतीय विज्ञान संस्थान
  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IITs)
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  • अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय

राज्य विश्वविद्यालय

  • मुंबई विश्वविद्यालय
  • चेन्नई विश्वविद्यालय
  • कोलकाता विश्वविद्यालय
  • बंगलुरु विश्वविद्यालय
  • हैदराबाद विश्वविद्यालय
  • पुणे विश्वविद्यालय

Private यूनिवर्सिटी

  • टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज (TISS)
  • अशोका विश्वविद्यालय
  • ओ.पी. जिंदल ग्लोबल यूनिवर्सिटी
  • जीआईएस बिजनेस स्कूल
  • श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स
  • नालंदा विश्वविद्यालय

विश्वविद्यालय का चयन करते समय ध्यान रखने योग्य बातें:

  • विश्वविद्यालय की रैंकिंग
  • विश्वविद्यालय द्वारा प्रदान किए जाने वाले पाठ्यक्रम
  • विश्वविद्यालय के शिक्षकों की योग्यता
  • विश्वविद्यालय का प्लेसमेंट रिकॉर्ड
  • विश्वविद्यालय का शुल्क

प्रोफेसर को कहा - कहा पर जॉब मिल सकती है?

प्रोफेसर को विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में अलग अलग सबजेक्ट में पढ़ाने के लिए जॉब मिल सकती है।
इसके लिए, उम्मीदवार के पास संबंधित सब्जेक्ट में न्यूनतम योग्यता (मास्टर्स डिग्री) और NET/Ph.D. होना आवश्यक है।

विश्वविद्यालय और कॉलेजों में अलग अलग प्रकार की पोस्ट होती हैं जैसे कि असिस्टेंट प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और प्रोफेसर।

प्रोफेसर को अलग अलग रिसर्च संस्थानों में रिसर्चर या प्रोजेक्ट लीडर के रूप में जॉब मिल सकती है।

प्रोफेसर को स्कूलों में अलग अलग सबजेक्ट में पढ़ाने के लिए जॉब मिल सकती है।

प्रोफेसर की जॉब के लिए कैसे अप्लाई करे

  • अलग - अलग ऑनलाइन और ऑफलाइन जॉब पोर्टल का उपयोग करें।
  • विश्वविद्यालयों और कॉलेजों की वेबसाइटों पर देखें।
  • रिसर्च संस्थानों और स्कूलों से संपर्क करें।
  • ऑनलाइन शिक्षा प्लेटफॉर्म से जुड़ें।
  • अलग - अलग संस्थानों में आयोजित होने वाली भर्ती परीक्षाओं में भाग लें।

निष्कर्ष।

प्रोफेसर बनना एक चुनौतीपूर्ण लेकिन पुरस्कृत करियर है अगर आप शिक्षा के क्षेत्र में अपना योगदान देना चाहते हैं और छात्रों को ज्ञान और कौशल प्रदान करना चाहते हैं तो प्रोफेसर बनने का ऑप्शन आपके लिए बेहतरीन हो सकता है।

Post a Comment

0 Comments