सरकारी Compounder कैसे बने जानिए सैलरी, योग्यता, और काम

सरकारी Compounder बनना उन युवाओं के लिए एक अच्छा ऑप्शन है जो मेडिकल क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं।

इस ब्लॉग आर्टिकल में, मैं आपको बताऊंगा कि सरकारी Compounder कैसे बनें इसके लिए योग्यता क्या है, काम क्या होता है, और सैलरी कितनी मिलती है।

आइए जानते हैं पूरी जानकारी।

सरकारी कंपाउंडर बनने के लिए योग्यता
Compounder कैसे बने 



सरकारी Compounder कौन होता है?

सरकारी Compounder एक स्वास्थ्य कार्यकर्ता होता है जो डॉक्टरों और नर्सों के साथ मिलकर काम करता है। वे मरीजों की देखभाल, दवाओं का वितरण, और मेडिकल उपकरणों को संभालने जैसे काम करते हैं।

Compounder डॉक्टरों के सहायक होते हैं और उन्हें अलग अगल कामों में सहायता करते हैं सरकारी Compounder बनने के लिए, आपको कुछ योग्यताएं और कौशल प्राप्त करने होंगे।

सरकारी कंपाउंडर बनने के लिए योग्यता

  • आपको साइंस स्ट्रीम से 12वीं कक्षा पास होना चाहिए 
  • आपको डिप्लोमा इन फार्मेसी (D.Pharm) या डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (D.MLT) कोर्स को पूरा करना होगा इसके अलावा आप D फार्मा या B Pharama जैसे कोर्स कर सकते है।
  • कुछ राज्यों में, D.M.P. (डिप्लोमा इन मेडिकल पार्कटिशनर) का कोर्स भी योग्य माना जाता है।
  • आपकी उम्र 18 से 35 साल के बीच होनी चाहिए।

सरकारी कंपाउंडर बनने के लिए सिलेक्शन प्रोसेस 

  • लिखित परीक्षा
  • प्रैक्टिकल परीक्षा
  • इंटरव्यू

अलग अलग राज्यों में सरकारी Compounder के पदों के लिए भर्ती परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं।

इन परीक्षाओं में अप्लाई करने के लिए, आपको निर्धारित योग्यता और उम्र सीमा पूरी करनी होगी।

परीक्षा में पास होने के बाद, आपको मेडिकल परीक्षा और इन्टरव्यू के लिए बुलाया जाएगा।

सभी चरणों में सफल होने के बाद, आपको सरकारी Compounder के पद पर नियुक्त किया जाएगा।


सरकारी Compounder का क्या काम होता है?

  • मरीजों की देखभाल करना और उनकी रिपोर्ट डॉक्टरों को बताना।
  • दवाओं का वितरण करना और मरीजों को दवाओं के बारे में जानकारी देना।
  • मेडिकल उपकरणों को संभालना और उनकी देखभाल करना।
  • रोगियों की जांच करना और उनके स्वास्थ्य का रिकॉर्ड रखना।
  • प्राथमिक उपचार प्रदान करना।
  • रोगियों के रिकॉर्ड को बनाए रखना
  • डॉक्टरों की सहायता करना

सरकारी Compounder की सैलरी कितनी होती है?

सरकारी Compounder की सैलरी राज्य सरकार और उनके एक्सपीरिएंस के आधार पर अलग अगल होती है। आमतौर पर, सरकारी Compounder को 25,000 रुपये से 30,000 रुपये प्रति महीना की सैलरी मिलती है।

सरकारी कंपाउंडर बनने के लिए कैसे अप्लाई करे?

नीचे मैंने कुछ Important वेबसाइटें दी हैं जहाँ आप सरकारी कंपाउंडर की पोस्ट के लिए विज्ञापन ढूंढ सकते हैं:


सरकारी Compounder बनने के लिए कुछ सुझाव

  • डिप्लोमा इन फार्मेसी (D.Pharm) या डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (D.MLT) में अच्छे अंक प्राप्त करें।
  • अलग अलग प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करें।
  • अपनी भाषा और कम्युनिकेशन कौशल में सुधार करें।
  • कंप्यूटर ज्ञान प्राप्त करें।

निष्कर्ष।

इस आर्टिकल में मैंने आपको Sarkari Compounder कैसे बने इसके बारे में जानकारी देने की कोशिश की है अगर आपको इससे संबंधित अन्य जानकारी चाहिए तो आप मुझे नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

Post a Comment

0 Comments