10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कैसे करे ?

आज के समय में वाहन हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग बन गए हैं हर दिन नए-नए वाहन बाजार में आ रहे हैं। ऐसे में वाहनों के निर्माण, मरम्मत और रखरखाव में इंजीनियरों की मांग बढ़ रही है अगर आप भी वाहनों के प्रति रुचि रखते हैं और Engineer  बनना चाहते हैं तो आपके लिए 10 वीं के बाद Automobile इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करना एक अच्छा Option है।

आइए जानते है Automobile इंजीनियरिंग में Diploma कैसे करे इसकी पूरी जानकारी।

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग क्या है?
Automobile Engineering Diploma Kiase kare 


ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग क्या है?

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग वाहनों के डिजाइन, निर्माण, Test, मरम्मत और रखरखाव से संबंधित एक इंजीनियरिंग ब्रांच है

इस Course में आपको वाहनों के बारे में पूरी जानकारी दी जाती है जिसमें वाहनों के अलग - अलग भागों और  उनके कार्य, और उनके निर्माण और मरम्मत का प्रोसेस होता है।


10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा के लिए योग्यता

10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में diploma करने के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10वीं कक्षा में विज्ञान, गणित में कम से कम 50% अंकों के साथ pass होना चाहिए।


10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा के लिए प्रवेश प्रक्रिया

10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में diploma के लिए प्रवेश आमतौर पर state level पर आयोजित होने वाली प्रवेश परीक्षा के माध्यम से होता है

इस परीक्षा में आपके सामान्य ज्ञान, विज्ञान, गणित और इंजीनियरिंग के ज्ञान का test किया जाता है।


10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा की अवधि

10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा की अवधि 3 साल की होती है।

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में कौन - कौनसे सब्जेक्ट की पढाई होती है ?

  1. इंजीनियरिंग विज्ञान
  2. मैकेनिकल इंजीनियरिंग
  3. ऑटोमोबाइल इंजन
  4. ऑटोमोबाइल ट्रांसमिशन
  5. ऑटोमोबाइल चेसिस
  6. ऑटोमोबाइल इलेक्ट्रिकल्स
  7. ऑटोमोबाइल मैकेनिक्स


10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा के बाद क्या करें?

10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने के बाद आप निचे दिए गए ऑप्शन में से किसी एक को सेलेक्ट कर सकते हैं।


ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में पॉलिटेक्निक Diploma

आपको अपने राज्य की पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा के लिए apply करना होगा इस परीक्षा के लिए आपको 10वीं में गणित और विज्ञान के साथ कम से कम 50% अंक लाने होंगे इस परीक्षा का फॉर्म हर साल ऑनलाइन या ऑफलाइन दोनों तरह से भरा जा सकता है

आप अपने पास के पॉलिटेक्निक कॉलेज में जाकर भी एडमिशन के लिए अप्लाई कर सकते है 

इसके बाद आपको पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा की तैयारी करनी होगी इस परीक्षा में आपको 10वीं के level के गणित, विज्ञान, अंग्रेजी और सामान्य ज्ञान के प्रश्न पूछे जाते हैं

आपको इन subjects की अच्छी पकड़ होनी चाहिए आपको पिछले साल के प्रश्न पत्र, मॉडल पेपर, गाइड बुक और ऑनलाइन मॉक टेस्ट का भी लाभ उठाना चाहिए।


B.Tech. ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में प्रवेश लें

10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने के बाद आप B.Tech. ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में प्रवेश ले सकते हैं

इसके लिए आपको किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या कॉलेज में प्रवेश परीक्षा देनी होगी।


ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग diploma की फीस कितनी होती है ?

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा की फीस सरकारी और private संस्थानों में अलग-अलग होती है। सरकारी संस्थानों में यह फीस आमतौर पर प्राइवेट कॉलेज की तुलना में कम होती है।

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग डिप्लोमा की फीस लगभग 30,000 से 60,000 रुपये तक होती है यह फीस सरकारी और निजी इंस्टिट्यूट के आधार पर अलग-अलग होती है।


सरकारी पॉलीटेक्निक या आईटीआई में ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग का डिप्लोमा कोर्स करीब 30,000 रुपये का होता है जबकि private कॉलेजों में यह फीस 40,000 से 60,000 रुपये तक हो सकती है कुछ बेहतर इंस्टिट्यूट में तो यह फीस 1 लाख रुपये से भी ज्यादा हो सकती है।


Automobile इंजीनियरिंग में डिप्लोमा के बाद क्या करे ?

ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग diploma के बाद आप जॉब और बिजनेस दोनों कर सकते है।


ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में जॉब

10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने के बाद आप किसी ऑटोमोबाइल कंपनी में इंजीनियर के रूप में Job कर सकते हैं।

  • ऑटोमोबाइल इंजीनियर
  • ऑटोमोबाइल मैकेनिक
  • ऑटोमोबाइल टेक्नीशियन
  • ऑटोमोबाइल कंपनी में विक्रेता
  • ऑटोमोबाइल कंपनी में सेवा इंजीनियर

अपना खुद का बिजनेस शुरू करें

10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में diploma करने के बाद आप अपना खुद का बिजनेस भी शुरू कर सकते हैं जैसे कि आप एक ऑटोमोबाइल मैकेनिक, ऑटोमोबाइल सर्विस सेंटर, या ऑटोमोबाइल एक्सेसरीज की दुकान खोल सकते हैं।


10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा के लाभ

आपको ऑटोमोबाइल उद्योग की जानकारी मिलती है जिससे आप वाहनों के डिजाइन, निर्माण, संचालन और मरम्मत के काम में योगदान दे सकते हैं।

आपको तकनीकी, कंप्यूटिंग, वैज्ञानिक और गणितीय कौशल विकसित होते हैं जिससे आप अलग - अलग समस्याओं को हल करने और नए आविष्कारों को करने में सक्षम होते हैं।

आपको ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने के बाद भारत और विदेशों में भी अलग - अलग कंपनियों में job का मौका मिलता है

आपको इस course को करने के बाद उच्च शिक्षा प्राप्त करने का भी option मिलता है आप लेटरल एंट्री के जरिए बी.टेक में भी एडमिशन ले सकते हैं

इससे आपको B.Tech का पूरा course करने की जगह सिर्फ दो साल में डिग्री मिल जाती है।


Automobile इंजीनियर की salary कितनी होती है ?

एक ऑटोमोबाइल इंजीनियर की शुरुआती salary लगभग ₹5 लाख से ₹10 लाख प्रति वर्ष होती है लेकिन बढ़ते काम एक्सपीरियंस, शिक्षा योग्यता और स्किल के साथ सैलरी में वृद्धि होना तय है।

एक अनुभवी ऑटोमोबाइल इंजीनियर की सैलरी  ₹10 लाख से ₹15 लाख प्रति साल तक हो सकती है 


निष्कर्ष

अगर आप वाहनों में interest रखते हैं और इंजीनियर बनना चाहते हैं तो 10 वीं के बाद ऑटोमोबाइल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करना एक अच्छा ऑप्शन है यह आपको एक अच्छी शिक्षा और एक सफल करियर प्रदान कर सकता है। 

Post a Comment

0 Comments