12वीं आर्ट्स के बाद लैब टेक्नीशियन कोर्स जानिए सैलरी योग्यता काम

अगर आप 12वीं आर्ट्स के बाद लैब टेक्नीशियन बनना चाहते हैं तो यह ब्लॉग पोस्ट आपके लिए है यहाँ हम आपको लैब टेक्नीशियन कोर्स के बारे में जानकारी देंगे, जिसमें सैलरी, योग्यता और काम शामिल हैं।

लैब टेक्नीशियन की सैलरी कितनी होती है ?
लैब टेक्नीशियन कोर्स


लैब टेक्नीशियन कौन होता है?

लैब टेक्नीशियन वैज्ञानिक लेबोरटरी में काम करते हैं और वैज्ञानिकों और डॉक्टरों को कई प्रकार के टेस्ट और प्रयोगों में सहायता करते हैं वे ब्लड, टिश्यू, और अन्य नमूनों का टेस्ट्स करते हैं, डेटा का एनालिसिस करते हैं और रिपोर्ट तैयार करते हैं।

लैब टेक्नीशियन बनने के लिए योग्यता

लैब टेक्नीशियन बनने के लिए आपको 12वीं विज्ञान (PCMB) में कम से कम 50% अंक प्राप्त होना चाहिए कुछ संस्थान 12वीं कला (Biology) के छात्रों को भी प्रवेश देते हैं इसके अलावा, आपको प्रवेश परीक्षा और मेडिकल परीक्षा पास करनी होगी।

12वीं आर्ट्स के बाद लैब टेक्नीशियन कोर्स

12वीं आर्ट्स के बाद लैब टेक्नीशियन बनने के लिए आप डिप्लोमा या सर्टिफिकेट कोर्स कर सकते हैं।

कुछ पॉपुलर डिप्लोमा कोर्स

  • डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (DMLT)
  • डिप्लोमा इन बायोमेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (DMLT)
  • डिप्लोमा इन क्लिनिकल लैब टेक्नोलॉजी (DCLT)

लैब टेक्नीशियन कोर्स फीस

  • डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (DMLT) - ₹5,000 से ₹20,000 हर साल
  • डिप्लोमा इन बायोमेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (DMLT) -  सरकारी संस्थानों में DMLT कोर्स फीस ₹5,000 से ₹20,000 हर साल हो सकती है और  प्राइवेट संस्थानों में DMLT कोर्स फीस ₹20,000 से ₹1,00,000 प्रति साल हो सकती है।
  • डिप्लोमा इन क्लिनिकल लैब टेक्नोलॉजी (DCLT) - सरकारी संस्थानों में DCLT कोर्स फीस ₹5,000 से ₹20,000 प्रति वर्ष हो सकती है प्राइवेट संस्थानों में DCLT कोर्स फीस ₹20,000 से ₹1,00,000 प्रति वर्ष हो सकती है।

लैब टेक्नीशियन कोर्स कितने साल का होता है ?

  1. डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (DMLT) - डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (DMLT) कोर्स आमतौर पर 2 साल का होता है कुछ संस्थान 3 साल का DMLT कोर्स भी प्रदान करते हैं, जिसमें छात्रों को इंटर्नशिप भी शामिल होती है।
  2. डिप्लोमा इन बायोमेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (DMLT) - डिप्लोमा इन बायोमेडिकल लैब टेक्नोलॉजी (DMLT) कोर्स आमतौर पर 2 साल का होता है कुछ संस्थान 3 साल का DMLT कोर्स भी प्रदान करते हैं जिसमें छात्रों को इंटर्नशिप भी शामिल होती है।
  3. डिप्लोमा इन क्लिनिकल लैब टेक्नोलॉजी (DCLT) - डिप्लोमा इन क्लिनिकल लैब टेक्नोलॉजी (DCLT) कोर्स आमतौर पर 2 साल का होता है।


लैब टेक्नीशियन की सैलरी कितनी होती है ?

लैब टेक्नीशियन की सैलरी उनके अनुभव, योग्यता, और काम करने की जगह के आधार पर अलग - अलग होती है भारत में एक लैब टेक्नीशियन की औसत सैलरी ₹15,000 से ₹45,000 प्रति महीना है।

लैब टेक्नीशियन का क्या काम होता है ?

  1. कई प्रकार के नमूनों (रक्त, मूत्र, टिश्यू आदि) का कलेक्शन और एनालिसिस करना।
  2. लेबोरेटरी उपकरणों और मशीनों का संचालन करना।
  3. डेटा का एनालिसिस और रिपोर्ट तैयार करना।
  4. वैज्ञानिकों और डॉक्टरों की सहायता करना।

लैब टेक्नीशियन बनने के बाद  कहा - कहा पर जॉब मिल सकती है 

लैब टेक्नीशियन बनने के बाद आप कई प्रकार के क्षेत्रों में काम कर सकते हैं, जैसे:

  • अस्पताल
  • क्लिनिक
  • क्लीनिकल लेबोरेटरी 
  • रिसर्च संस्थान
  • दवा कंपनियां

निष्कर्ष।

12वीं आर्ट्स के बाद लैब टेक्नीशियन बनना एक अच्छा करियर ऑप्शन हो सकता है यह एक चुनौतीपूर्ण और rewarded करियर है जो आपको विज्ञान और स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में काम करने का अवसर प्रदान करता है यह ब्लॉग पोस्ट आपको 12वीं आर्ट्स के बाद लैब टेक्नीशियन बनने के बारे में जानकारी प्रदान करता है अगर आप इस करियर में रुचि रखते हैं तो आप ऊपर दी गई जानकारी का उपयोग अपनी प्लान बनाने के लिए कर सकते हैं।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.