ANM क्या होता है जानिए काम, योग्यता जॉब और सैलरी

आज के समय में ANM कोर्स उन छात्राओं के लिए नर्सिंग क्षेत्र में अपना करियर बनाने का एक अच्छा अवसर है जो  12वीं में पढ़ रही हैं या 12वीं पास कर चुकी हैं

एएनएम एक ऐसा डिप्लोमा कोर्स है जिसे करने के बाद आपको अच्छी नौकरी के साथ-साथ लोगों की सेवा करने का मौका मिलता है।

दोस्तों अगर आप मेडिकल फील्ड में Interest रखते है  और जानना चाहते है ANM क्या है तो आप सही जगह पर आए हैं इस आर्टिकल में हम बात करेंगे ANM Course के बारे में ANM कोर्स के लिए योग्यता, Anm के काम, ANM कोर्स फीस और सैलरी के बारे में। 

आइए जानते हैं Anm कोर्स के बारे में पूरी जानकारी

anm course

ANM क्या होता है ?

ANM नर्सिंग के क्षेत्र में एक डिप्लोमा कोर्स है जो कि सिर्फ महिला अभ्यर्थियों के लिए है यानी इस कोर्स को केवल महिला अभ्यर्थी ही कर सकती हैं इस कोर्स में उम्मीदवार को दवाइयों से संबंधित ट्रेनिंग दी जाती है ANM का फुल फॉर्म  “Auxiliary Nursing Midwifery”  है जिसका अर्थ है सहायक नर्स दाई सेवा।

यह एक पैरामेडिकल प्रोफ़ेशन है जो स्वास्थ्य सेवा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है ANM ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में गर्भवती महिलाओं, नवजात शिशुओं और बच्चों की देखभाल करते हैं वे टीकाकरण, स्वास्थ्य शिक्षा और परिवार नियोजन सेवाएं भी प्रदान करते हैं।

ANM कोर्स को पूरा करने की अवधि 2 साल है और जब आप इस कोर्स को पूरा कर लेते हैं तो आपको नर्सिंग में डिप्लोमा सर्टिफिकेट मिल जाता है।

यह मेडिकल साइंस से जुड़ा एक पॉपुलर कोर्स है एएनएम कोर्स के तहत मातृ स्वास्थ्य देखभाल और गर्भावस्था से संबंधित जानकारी दी जाती है।

एएनएम कोर्स के लिए योग्यता।

  • एनएम डिप्लोमा कोर्स सिर्फ लड़कियां ही कर सकती हैं।
  • एएनएम कोर्स में Admission के लिए मान्यता प्राप्त बोर्ड से 10+2 पास होना ज़रूरी है किसी भी स्ट्रीम से 12वीं पास (आर्ट साइंस, कॉमर्स)
  • इस Course को करने के लिए छात्राओं की उम्र कम से कम 17 साल और अधिकतम उम्र 35 साल होनी चाहिए।
  • आपको चिकित्सकीय (Medically) रूप से फिट होना चाहिए (शारीरिक और मानसिक रूप से फिट होना चाहिए)

एएनएम कोर्स के लिए एडमिशन प्रोसेस

अगर आप एएनएम कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो सबसे पहले आपके 12वीं में कम से कम 45% अंक होने चाहिए वहीं आरक्षण सीट के छात्रों को 12वीं में 40% अंकों के साथ पास होना आवश्यक है।
इसके बाद आपको एएनएम कोर्स के लिए एंट्रेंस एग्जाम का फॉर्म भरना होगा एंट्रेंस एग्जाम केंद्र पास के विश्वविद्यालयों और स्कूलों में स्थापित किए जाते हैं वहां एएनएम की एंट्रेंस एग्जाम होता है।

ANM कोर्स की फीस कितनी होती है ?

अगर आप सरकारी कॉलेज से एएनएम का कोर्स करते हैं तो आपको बहुत कम फीस देनी पड़ती है लेकिन वहीं अगर आप प्राइवेट कॉलेज से एएनएम का कोर्स करते हैं तो 60 हजार से 1 लाख प्रति वर्ष तक चार्ज किया जा सकता है।

ज्यादातर प्राइवेट कॉलेजों में किसी भी कोर्स को करने की फीस सरकारी कॉलेज से ज्यादा होती है इसलिए अगर एएनएम कोर्स की फीस की बात करें तो यह सरकारी और प्राइवेट कॉलेज में अलग - अलग होती है। 

सरकारी नर्सिंग कॉलेजों में एएनएम कोर्स की फीस लगभग 20 से 40 हजार प्रति वर्ष हो सकती है अलग-अलग सरकारी कॉलेजों में फीस भी अलग-अलग होती है।

ANM कोर्स में कौन कौन से सब्जेक्ट्स होते हैं ?

एएनएम दो साल का डिप्लोमा कोर्स है जिसमें आपको दोनों साल में अलग-अलग सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं

पहले सा के सब्जेक्ट - Community Health Nursing, Health Promotion, Primary Health care Nursing I (Prevention of diseases and restoration of health), Child Health Nursing

दूसरे साल के सब्जेक्ट - Midwifery and  Health Center Management

ANM का क्या काम होता है ?

एएनएम स्वास्थ्य उपकेंद्रों (Sub Centre's) में काम करती हैं, मातृत्व और बच्चे की जिम्मेदारी एएनएम द्वारा संभाली जाती है जिसके तहत बच्चे के टीके, बच्चे और मां के पोषण और उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखा जाता है

ज्यादातर एएनएम को गांवों में काम करना होता है जो सामुदायिक स्वास्थ्य की देखभाल करती हैं एएनएम को पीएचसी (प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल) के तहत रखा जाता है। 

एएनएम का काम लोगों तक परिवार नियोजन से जुड़ी जानकारी पहुंचाना है एएनएम का काम अस्पताल या हेल्थ प्रोग्राम या प्रोजेक्ट के अनुसार मरीजों और महिलाओं को सुरक्षित और प्रभावी देखभाल प्रदान करना है ANM को  साथ ही नेशनल लेवल पर चलाए जा रहे हेल्थ प्रोग्राम के क्रियान्वयन (implementation) में सहयोग करना होता है।

ANM की सैलरी कितनी होती है?

ANM की सैलरी उनके अनुभव, योग्यता और काम करने वाली जगह के आधार पर अलग - अलग होती है सरकारी नौकरी में ANM को 7वें वेतन आयोग के अनुसार 25,000 से 30,000 रुपये प्रति माह सैलरी मिलती है और प्राइवेट क्षेत्र में ANM को 15,000 से 20,000 रुपये प्रति माह Salary मिल सकती है।

ANM बनने के क्या फायदे हैं?

  • रोजगार के अवसर:- ANM की बहुत अधिक मांग है, इसलिए रोजगार के अवसर बहुत अच्छे हैं।
  • सरकारी नौकरी:- ANM को सरकारी नौकरी मिल सकती है, जिसमें सैलरी, भत्ते और पेंशन जैसे लाभ मिलते हैं।
  • सामाजिक सेवा:- ANM समाज की सेवा करते हैं और लोगों के जीवन में सुधार लाते हैं।
  • आत्म-सम्मान:- ANM एक सम्मानित पेशा है और ANM को समाज में सम्मान मिलता है।

ANM बनने के लिए कुछ टिप्स

  1. 12वीं कक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करें।
  2. ANM (Auxiliary Nurse Midwife) का 2 साल का डिप्लोमा कोर्स अच्छे कॉलेज से करें।
  3. अपनी पढ़ाई में ध्यान दें और अच्छे अंक प्राप्त करें।
  4. नर्सिंग क्षेत्र में अनुभव प्राप्त करें।
  5. सरकारी नौकरी के लिए अप्लाई करें।

ANM बनने के लिए कुछ उपयोगी पुस्तकें

  • ANM Nursing by Dr. P.K. Gupta
  • Textbook of Midwifery by Dr. S.R. Dash
  • Auxiliary Nurse Midwife (ANM) Course by Dr. S.K. Sharma

ANM के बाद क्या करे ?

ANM कोर्स करने के बाद आपको health सेक्टर में अलग - अलग पदों पर जॉब मिल सकती है

Basic Community Health Worker

इसमें आपको समुदाय को स्वास्थ्य सुविधा प्रदान करने, टीकाकरण, फैमिली प्लानिंग, पोषण और स्वच्छता के बारे में जागरूकता फैलाने, आपात स्थिति में प्राथमिक चिकित्सा करने जैसे काम करने होते हैं।

ICU Nurse

इसमें आपको हॉस्पिटल के ICU वार्ड में काम करना होता है जहां आपको गंभीर रोगी (Critical Patient) की देखभाल करनी होती है, डॉक्टर की मदद करनी होती है, सर्जरी, ऑपरेशन और मरीजों के इलाज में सहयोग करना होता है ANM कोर्स के बाद आप ICU नर्स के रूप में अपना करियर बना सकती हैं।

Home Nurse

इसमें आपको मरीज के घर में रहकर मरीज की देखभाल करनी होती है आपको मरीज को समय-समय पर दवाइयां, खाना, पानी, स्वास्थ्य की जांच, संपर्क में रहना, सहायता करना, सलाह देना, जैसे काम करने होते हैं।

Military Nurse

इसमें आपको मिलिट्री अस्पतालों में काम करना होता है जहां आपको देश के सिपाहियों का इलाज करने का मौका मिलता है आपको सेना के नियमों, अनुशासन, प्रोटोकॉल, सुरक्षा, संघर्ष, आपदा, चिकित्सा सहायता, प्रथमिक उपचार, रक्तदान, हेल्थ ट्रेनिंग, संक्रमण रोकथाम, मानसिक स्वास्थ्य, प्रबंधन, संचार, सहकार्य, जैसे काम करने होते हैं मिलिट्री नर्स के रूप में काम करना भी ANM के बाद एक बेहतर करियर ऑप्शन हो सकता है।

Government Hospital Nurse

इसमें आपको सरकारी अस्पतालों में काम करना होता है, जहां आपको मरीजों की देखभाल, डॉक्टर की मदद, सर्जरी, ऑपरेशन, मेडिकल प्रोसीजर, संपर्क, सुनिश्चित करना, सूचना, मैनेजमेंट, संचार, सहयोग, जैसे काम करने होते हैं ANM के बाद आप सरकारी हॉस्पिटल में नर्स के लिए अप्लाई कर सकती हैं और अपने करियर को आगे बढ़ा सकती हैं।

Health Care Worker

आपको ग्रामीण स्वास्थ्य केंद्रों पर काम करना होता है, जहां आपको आंगनवाड़ी केंद्रों पर बच्चों के स्वास्थ्य की जांच करना, उन्हें समय-समय पर टीके लगवाना, गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना जैसे काम होते हैं

ANM के बाद Health Care Worker (स्वास्थ्य कार्यकर्ता) के रूप में काम करके आप अपने करियर में आगे बढ़ सकती हैं।

Midwife

इसमें आपको मातृत्व सेवा प्रदान करनी होती है जिसमें गर्भावस्था, प्रसव, प्रसूति, शिशु की देखभाल, महिला स्वास्थ्य, परिवार नियोजन, संक्रमण रोकथाम, सलाह, समर्थन, प्रशिक्षण, अनुसंधान, सूचना, प्रबंधन, संचार, सहकार्य, समर्पण जैसे काम होते हैं

ANM कोर्स करने के बाद आप Midwife (दाई) के रूप में अपने करियर में आगे बढ़ सकते हैं।

ANM के बाद जॉब कैसे पाएं ?

ANM कोर्स करने के बाद, आपको अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके लिए, आपको Indian Nursing Council (INC) से संपर्क करना होगा INC आपको ANM Certificate और रजिस्ट्रेशन नंबर प्रदान करेगा ANM रजिस्ट्रेशन के बाद आप आप सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में ANM वैकंसी के लिए अप्लाई कर सकती हैं।

एएनएम के बाद आप अस्पतालों, आरोग्य निगमों, शिक्षा संस्थानों, फार्मा कंपनियों, फिजियोथेरेपी केंद्रों, योग और प्राकृतिक चिकित्सा क्षेत्र, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र और रिसर्च संस्थानों में अलग - अलग पदों के लिए जॉब अवसर प्राप्त कर सकते हैं।

ANM के बाद कौन-कौन से कोर्स कर सकते हैं?

GNM (General Nursing and Midwifery)

यह एक 3 साल का डिप्लोमा कोर्स है जिसमें आपको नर्सिंग की प्राइमरी और मध्यमिक लेवल की शिक्षा मिलती है।

B.Sc Nursing

यह एक 4 साल का ग्रेजुएशन कोर्स है, जिसमें आपको नर्सिंग की प्रभावी, easy, सुरक्षित सेवा प्रदान करने के लिए ट्रेनिंग मिलती है।

Post Basic B.Sc Nursing

यह एक 2 साल का पोस्ट-ग्रेजुएशन कोर्स है, जिसमें ANM/GNM पास उम्मीदवारों को नर्सिंग की एडवांस लेवल की शिक्षा मिलती है।

M.Sc Nursing

यह एक 2 साल का पोस्ट-ग्रेजुएशन कोर्स है, जिसमें B.Sc Nursing पास उम्मीदवारों को नर्सिंग के किसी स्पेशल क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त करने का मौका मिलता है।

FAQ - अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

1. एएनएम कोर्स कितने साल का होता है ?

उत्तर - एएनएम कोर्स कुल 2 साल का होता है, जिसमें शुरुआत में 18 महीने की एकेडमिक स्टडी और अनुभव के लिए 6 महीने की इंटर्नशिप करनी होती है।

2. ANM की फुल फॉर्म क्या होती है?

उत्तर - ANM की फुल फॉर्म Auxiliary Nursing and Midwifery है।

3. ANM में कौनसे सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं ?

उत्तर - ANM कोर्स के अंदर Anatomy, physiology, nutrition, community health, midwifery और nursing ethics जैसे टॉपिक पढ़ाए जाते हैं।

निष्कर्ष। 

दोस्तों इस आर्टिकल में मैंने आपको ANM क्या है और एएनएम कोर्स के लिए योग्यता, काम, सैलरी के बारे में जानकारी दी उम्मीद करता हूँ आपको ANM कोर्स के बारे में सभी जानकारी मिल गई होगी अगर ANM Course से Related आपके मन में कोई सवाल है तो आप निचे comment में अपना सवाल पूछ सकते हैं

अगर आप मेडिकल सर्विस की फील्ड में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो एएनएम बनने का ऑप्शन आपके लिए एक अच्छा ऑप्शन हो सकता है।

Disclaimer
यह जानकारी केवल सामान्य जानकारी के लिए है ANM बनने के लिए आवश्यक योग्यता और सैलरी समय के साथ बदल सकती है अधिक जानकारी के लिए आप सरकारी वेबसाइटों और विश्वसनीय संस्थानों से संपर्क कर सकते हैं।

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.