ITI के बाद पॉलिटेक्निक कैसे करे जानिए: एडमिशन फीस और प्रोसेस

अगर अपने आईटीआई कोर्स को पूरा कर लिया है और अब आप पॉलिटेक्निक में एडमिशन लेने के बारे में सोच रहे हैं इस आर्टिकल में, हम आपको बताएंगे कि आप ITI के बाद Polytechnic कैसे करे आईटीआई को पूरा करने के बाद आपके पास कई क्षेत्रों में अच्छी नौकरी के अवसर हो सकते हैं।

लेकिन अगर आप अपनी शिक्षा को और ऊँचाईयों तक ले जाना चाहते हैं और अधिक ज्ञान और कौशल प्राप्त करना चाहते हैं, तो पॉलिटेक्निक आपके लिए एक अच्छा करियर ऑप्शन हो सकता है।

अगर आपको टेक्निकल फील्ड में काम करना अच्छा लगता है तो आईटीआई के बाद पॉलिटेक्निक करना आपके लिए बहुत अच्छा रहेगा और आपको अच्छी जॉब आसानी से मिल जाएगी क्युकी आईटीआई के बाद डिप्लोमा करने से आपको कोई भी कंपनी आसानी से जॉब दे सकती है आपको अपनी फील्ड की अच्छी नॉलेज होनी चाहिए।

आईटीआई के बाद पॉलिटेक्निक कितने साल का होता है ?
lateral entry iti to diploma



Table of Contents (toc)


ITI के बाद पॉलिटेक्निक कैसे करे?

अगर आपका आईटीआई कोर्स पूरा हो जाता है इसके बाद आपको पॉलिटेक्निक कॉलेज में एडमिशन के लिए अप्लाई करना होगा इसके लिए हर साल पॉलिटेक्निक में Lateral Entry के नाम से फार्म निकलते हैं आपको  Lateral Entry का फॉर्म भरना होगा इसके बाद आपके आईटीआई में प्राप्त अंको के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है। 

पहले आपको पॉलिटेक्निक एंट्रेंस एग्जाम में Group K का फॉर्म भरना होगा  फॉर्म भरने के बाद आपकी ट्रेड थ्योरी व मैथ, साइंस के सिलेबस का एग्जाम होगा और इसके बाद आपका रिजल्ट आएगा। 

इसके बाद काउंसिलिंग होगी अगर आपका पहले राउंड की काउंसिलिंग में सिलेक्शन हो जाता है तो यह आपके लिए काफी अच्छा रहेगा अगर आपका सिलेक्शन पहले राउंड की काउंसिलिंग में नहीं होता है तो आगे आने वाले काउंसिलिंग राउंड में भाग लेते रहना होगा औरआपका सिलेक्शन किसी न किसी काउंसिलिंग में हो जाएगा और आप आईटीआई के बाद पॉलिटेक्निक में एड्मिशन लें सकते हैं।

इसके बाद आपको उस पॉलिटेक्निक कॉलेज में जाकर अपने डाक्यूमेंट्स की जांच करानी होगी डाक्यूमेंट्स की जांच के बाद आपको अपनी फीस जमा करनी होगी इसके बाद आपको उस पॉलिटेक्निक में एडमिशन मिल जाता है और अब आप पॉलिटेक्निक कोर्स कर सकते हैं।


आईटीआई के बाद पॉलिटेक्निक कितने साल का होता है ?

आईटीआई के बाद पॉलिटेक्निक का कोर्स 2 साल का होता है आईटीआई के बाद आप पॉलिटेक्निक के 2nd Year में Admission ले सकते है लेकिन यहां एक बात ध्यान देने वाली है कि आपको सेकंड ईयर के साथ-साथ फर्स्ट ईयर के पेपर भी पास करने होंगे यह पॉलिटेक्निक में आपके दुवारा सेलेक्ट किए आपके ब्रांच पर डिपेंड करता है। 

पॉलिटेक्निक के बेस्ट कोर्स

  1. Diploma in Automobile Engineering
  2. Diploma in Mechanical Engineering
  3. Diploma in Civil Engineering
  4. Diploma in Instrumentation Technology
  5. Diploma in Printing Technology
  6. Diploma in Medical Lab
  7. Diploma in Business Administration
  8. Diploma in Biotechnology

ITI के बाद डिप्लोमा करने के लिए योग्यता

  • सबसे पहले आपको NCVT से मान्यता प्राप्त ITI ट्रेड में में पास होना चाहिए। 
  • आपको Minimum 35% अंकों के साथ अपना आईटीआई कोर्स पास होना चाहिए।
  • पॉलिटेक्निक कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना होता है और इस Entrance Exam के अंकों के आधार पर आपको पॉलिटेक्निक कॉलेज में एडमिशन मिलता है।
  • हर साल सरकार आईटीआई के बाद पॉलिटेक्निक कॉलेज में एडमिशन के लिए एक संयुक्त प्रवेश परीक्षा (Joint Entrance Exam) आयोजित करती है।
  • केवल वही स्टूडेंट इस परीक्षा में भाग ले सकते है जिन्होंने अपना आईटीआई कोर्स कम्पलीट कर लिया होता है और इस परीक्षा के माध्यम से उन्हें पॉलिटेक्निक कॉलेज में द्वितीय वर्ष (Second Year) में एडमिशन मिलता है।

ITI के बाद पॉलिटेक्निक करने के लिए डाक्यूमेंट्स। 

  • 10th Mark Sheet
  • ITI Course Complete Certificate
  • Migration Certificate
  • Residential Certificate
  • ID Proof

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा की फीस कितनी होती है ?

पॉलिटेक्निक डिप्लोमा की फीस कई Factors पर Depend करती है, जैसे:

कॉलेज का प्रकार:- सरकारी कॉलेज  की फीस प्राइवेट कॉलेज की तुलना में कम होती है।
राज्य:- अलग - अलग राज्यों में फीस अलग-अलग होती है।
कोर्स:- अलग - अलग कोर्स की फीस अलग-अलग होती है।
अन्य शुल्क:- ट्यूशन फीस के अलावा, अन्य शुल्क भी हो सकते हैं, जैसे कि परीक्षा शुल्क, प्रयोगशाला शुल्क, और लाइब्रेरी शुल्क।

सामान्य तौर पर, सरकारी कॉलेज में पॉलिटेक्निक डिप्लोमा की फीस ₹10,000 से ₹30,000 प्रति वर्ष होती है और प्राइवेट कॉलेज  में, फीस ₹30,000 से ₹1,00,000 प्रति वर्ष तक हो सकती है।

ITI के बाद पॉलिटेक्निक करने के फायदे

  1. ITI के बाद पॉलिटेक्निक करने से आपको किसी भी कंपनी आसानी से जॉब मिल सकती है 
  2. ITI के बाद पॉलिटेक्निक करने से आपको कंपनी में अच्छी पोस्ट पर जॉब मिलती है 
  3. आपको आईटीआई की अपेक्षा सैलरी अधिक मिलती है। 
  4. आपको सरकारी नौकरी मिलने में आसानी होगी।
  5. ITI के बाद  Polytechnic करने से आपकी शैक्षणिक योग्यता बढ़ती है।

पॉलिटेक्निक और आईटीआई के बीच का अंतर क्या है ?

ज्यादातर 10वीं या 12वीं पास करने के बाद छात्रों के मन में एक सवाल होता है कि आईटीआई और पॉलिटेक्निक में से कौन सा कोर्स करूं? इसके लिए आपको बता दें कि पॉलिटेक्निक को आईटीआई से बेहतर कोर्स माना जाता है

अगर आप आईटीआई करते हैं तो पॉलिटेक्निक की तुलना में नौकरी और अवसर कम मिलने की संभावना है और अगर आप पॉलिटेक्निक डिप्लोमा करते हैं तो आपको जूनियर इंजीनियर की पोस्ट पर जॉब मिल सकती है।

पॉलिटेक्निक और आईटीआई के बीच का सबसे बड़ा अंतर है आईटीआई कोर्स की अवधि 1 से 2 साल है जबकि पॉलिटेक्निक तीन साल की होती है इसलिए आईटीआई के छात्रों को कम समय में नौकरी मिल जाती है 

आईटीआई छात्र आईटीआई पूरा करने के बाद पॉलिटेक्निक डिप्लोमा कर सकते हैं जबकि पॉलिटेक्निक डिप्लोमा के छात्र डिग्री और इंजीनियरिंग कर सकते हैं। 


निष्कर्ष। 

दोस्तों इस आर्टिकल में हमने आपको ITI के बाद Polytechnic कैसे करे इसके बारे में जानकारी दी है अगर आपको इससे सम्बंधित कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमे निचे कमेंट करके बता सकते है। 

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.